Breaking News
Home » मध्य प्रदेश » ग्वालियर » दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिकों का महाकुंभ – राष्ट्रपति के मुख्य आतिथ्य में हितग्राहियों को बटेंगे सहायक उपकरण

दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिकों का महाकुंभ – राष्ट्रपति के मुख्य आतिथ्य में हितग्राहियों को बटेंगे सहायक उपकरण

दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिकों का महाकुंभ - राष्ट्रपति के मुख्य आतिथ्य में हितग्राहियों को बटेंगे सहायक उपकरण
दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिकों का महाकुंभ – राष्ट्रपति के मुख्य आतिथ्य में हितग्राहियों को बटेंगे सहायक उपकरण
दिव्यांग एवं वृद्धजनों के सहायतार्थ मध्यप्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा शिविर 11 फरवरी को ग्वालियर में आयोजित होगा। राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद के मुख्य आतिथ्य में आयोजित हो रहे इस “नि:शुल्क सहायक उपकरण वितरण समारोह” में 5 हजार 600 से अधिक दिव्यांग एवं वृद्धजनों को लगभग 2 करोड़ 90 लाख रूपए की लागत के नि:शुल्क कृत्रिम अंग व सहायक उपकरण वितरित होंगे। साथ ही लगभग 1400 दिव्यांगों को रोजगार व स्वरोजगार एवं नौकरी के प्रमाण-पत्र भी मिलेंगे। राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद इस समारोह में लगभग 10.45 बजे पहुँचेंगे। समारोह में राष्ट्रपति प्रतीक स्वरूप 10 हितग्राहियों को सहायक उपकरण वितरित करेंगे।
यहाँ जीवाजी विश्वविद्यालय के खेल मैदान पर आयोजित हो रहे समारोह में मध्यप्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी, केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत, केन्द्रीय पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद रहेंगे। साथ ही मध्यप्रदेश सरकार के मंत्रिगण सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा केन्द्र व राज्य सरकार के अधिकारी भी कार्यक्रम में शामिल होंगे।
विदित हो केन्द्र व राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप दिव्यांगों को सरकार की समस्त योजनाओं का लाभ दिलाने के मकसद से ग्वालियर जिले में दिव्यांग मित्र अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान और एडिप एवं राष्ट्रीय वयोश्री योजना के तहत यह शिविर जिला प्रशासन, रेडक्रॉस सोसायटी हरियाणा, एलिम्को (कृत्रिम अंग निर्माण निगम) की संयुक्त भागीदारी से आयोजित हो रहा है।
स्मार्ट फोन, स्मार्ट केन से लेकर मोटराईज्ड ट्राइस्किल तक बटेंगीं
नि:शुल्क सहायक उपकरण वितरण समारोह में एडिप योजना के तहत 119 बैटरी चलित ट्राइस्किल, 762 ट्राइस्किल, 277 व्हीलचेयर, 1236 बैशाखी, दृष्टिबाधितों के लिये 50 स्मार्ट फोन, 34 ब्रेल केन (छड़ी), 36 ब्रेल किट व 19 ब्रेल स्लेट, 30 डेजी प्लेयर, तथा बैटरी से संचालित 127 स्मार्ट केन वितरित होंगीं। इसके अलावा श्रवण बाधितों को 742 कान की मशीन, चलने में असमर्थ बच्चों के लिये 38 रोलेटर, मानसिक दिव्यांगों के लिये 268 एमएसआईडी किट, अस्थि बाधित दिव्यांगों के लिये 324 कैलीपर्स व प्रोस्थेसिस (कृत्रिम अंग), कुष्ठ रोगियों के लिये 26 एडीएल किट व इतने ही सेलफोन एवं सेरीब्रिल पॉलिसी अवस्था के तीन दिव्यांगों को सीपी चेयर वितरित की जायेंगीं।
राष्ट्रीय वयोश्री योजना के तहत यह उपकरण बटेंगे
राष्ट्रीय वयोश्री योजना के तहत 1089 वॉकिंग स्टिक, 806 नजर के चश्मे, 250 व्हीलचेयर, 773 श्रवण यंत्र, 417 ट्राइपोड, 197 टेट्रापोड, 85 कृत्रिम दांत (बत्तीसी), 14 बैशाखी व तीन फोल्डेबल वॉकर वितरित होंगे।
फायनल रिहर्सल हुई, सजधज कर तैयार है प्रांगण
नि:शुल्क सहायक उपकरण वितरण समारोह के लिये जीवाजी विश्वविद्यालय के खेल मैदान को भव्य एवं गरिमामय ढंग से सजाया-संवारा गया है। भारत सरकार के संयुक्त सचिव श्री प्रबोध सेठ व कलेक्टर श्री राहुल जैन ने दिनभर शिविर स्थल पर मौजूद रहकर तैयारियों को अंतिम रूप दिया। साथ ही राष्ट्रपति की मौजूदगी में आयोजित होने वाली सभी गतिविधियों की हू-ब-हू फायनल रिहर्सल भी की गई। दिव्यांगजन एवं वृद्धजनों को वितरित किए जाने वाले उपकरण व कृत्रिम अंग मसलन ट्राइस्किल, व्हीलचेयर, स्मार्ट केन, स्मार्ट फोन, एरियल किट, एमएसआईडी, बैशाखी व छड़ी इत्यादि सहायक उपकरण विभिन्न सेक्टरों में सजा दिए गए हैं।
लगभग 650 वॉलिन्टियर करेंगे मदद
दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिकों की मदद के लिये लगभग 650 वॉलिन्टियर उनके साथ साये की तरह तैनात रहेंगे। समारोह स्थल पर कुल 18 सेक्टर बनाए गए हैं, इनमें से 17 सेक्टर हितग्राहियों के लिये हैं। इन सभी सेक्टरों में भोजन वितरण की जिम्मेदारी निरंकारी मिशन के वॉलिन्टियर निभायेंगे। देशभर से आए जूनियर रेडक्रॉस वॉलिन्टियर, एनसीसी कैडेट्स, आनंदम कार्यकर्ता, धरा फाउण्डेशन तथा अन्य वॉलिन्टियर व शासकीय सेवक दिव्यांगों को उनके निर्धारित सेक्टर में बिठाने से लेकर उन्हें उपकरण वितरण का काम करेंगे। हितग्राहियों को सुविधाजनक तरीके से उनके सेक्टर में बिठाया जा सके, इसके लिये दिव्यांगता के हिसाब से अलग-अलग कलर कोड के पहचान पत्र हितग्राहियों को दिए गए हैं। साथ ही उन पर दिव्यांगता के कोड का भी उल्लेख है।
नए हितग्राहियों के लिये ऐसिसमेंट शिविर भी लगेगा
कलेक्टर श्री राहुल जैन ने फायनल रिहर्सल में स्पष्ट किया कि नि:शुल्क सहायता उपकरण वितरण समारोह से राष्ट्रपति के प्रस्थान के बाद ही नए हितग्राहियों के पंजीयन व एसिसमेंट शिविर की शुरूआत होगी। उन्होंने कहा कि संबंधित वॉलिन्टियर सुव्यवस्थित तरीके से इन सभी का पंजीयन व परीक्षण कराएँ। परीक्षण के लिये विशेष चिकित्सक और एलिम्को की टीम विभिन्न काउण्टर पर तैनात रहेगी।
दिव्यांग बच्चे देंगे रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति
“नि:शुल्क सहायत उपकरण वितरण समारोह” में होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों की फायनल रिहर्सल भी शुक्रवार को हुई। अमर ज्योति विद्यालय एवं पुनर्वास केन्द्र, आत्मज्योति दृष्टिहीन बालिका विद्यालय, सीडब्ल्यूएसएन संभागीय बालिका छात्रावास, माधव अंधाश्रम इत्यादि संस्थाओं के दिव्यांग बच्चे रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियों की फायनल रिहर्सल हुई। डांस इंडिया डांस, सत्यमेव जयते, इंटरटेनमेंट के लिये कुछ भी करेगा व इंडियाज गॉट टैलेन्ट सीजन-2 में प्रस्तुतियाँ देकर देशभर में नाम कमा चुके वी आर वन संस्था के दिव्यांग बच्चे भी नि:शुल्क सहायता उपकरण वितरण समारोह में अपनी प्रस्तुति देने आ रहे हैं।
लगभग 120 शौचालय और अस्थाई अस्पताल भी बनाया
शिविर स्थल पर आधा दर्जन बिस्तर का अस्थाई अस्पताल भी कार्यरत रहेगा। साथ ही हितग्राहियों के लिये 120 अस्थाई शौचालय बनवाए गए हैं। हर सेक्टर में पेयजल की व्यवस्था की गई है। वॉलिन्टियर का दायित्व होगा कि हितग्राहियों को यह सुविधायें सुगमता से मिल जाएँ। कलेक्टर ने सभी वॉलिन्टियर से कहा कि भोजन व उपकरण वितरण के बाद सभी वॉलिन्टियर हितग्राहियों को वाहनों में सुविधाजनक तरीके से बिठाने के लिये ले जाएँ। उन्होंने कहा दूरदराज से आए हितग्राहियों के ट्राइस्किल उनके गाँव तक पहुँचाने के लिये विशेष वाहन लगाए गए हैं।
जिले की गौरवशाली परंपरा के अनुरूप मेजबानी करने की अपील
कलेक्टर श्री राहुल जैन ने ग्वालियर सहित सम्पूर्ण जिले के नागरिकों से दिव्यांगों व वृद्धजनों के इस महाकुंभ में ग्वालियर जिले की गौरवशाली परंपरा के अनुरूप मेजबान बनकर सहयोग करने की अपील की है। उन्होंने जनप्रतिनिधिगण एवं शासकीय अमले से खासतौर पर आग्रह किया है कि वे अपने आप को वॉलिन्टियर समझकर इस पुनीत आयोजन में सहयोगी बनें।
प्रवेश व्यवस्था
दिव्यांग एवं वृद्धजन सहायतार्थ शिविर में आमंत्रित अतिथिगण एवं मीडिया प्रतिनिधिगण सचिन तेंदुलकर मार्ग से जीवाजी विश्वविद्यालय के सिटी सेंटर की ओर वाले गेट नं.-2 (सेंट्रल बैंक एटीएम के बगल से) प्रवेश कर सकेंगे। अतिथिगण अपने वाहन सीधे लेजाकर जीवाजी विश्वविद्यालय की आवासीय कॉलोनी के समीप स्थित तिकोनिया पार्क में खड़े कर जिम्नेजियम के सामने वाले प्रवेश द्वार से समारोह के पण्डाल में प्रवेश कर सकेंगे। समारोह में आम नागरिकगण जीवाजी विश्वविद्यालय के गेट नं.-5 व 6 (यूनिवर्सिटी अलकापुरी रोड़ की तरफ) से प्रवेश कर सकेंगे। अन्य प्रवेश द्वार हितग्राहयों व अन्य अतिविशिष्ट व्यक्तियों के प्रवेश के लिये निर्धारित हैं।

Check Also

gwalior मेडीकल कॉलेज

मेडीकल कॉलेज को रोटरी क्लब ने दी खून जाँच की अत्याधुनिक मशीन

एक मिनट में होगी खून की विभिन्न प्रकार की जाँचें, संभाग आयुक्त ने किया लोकार्पण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *